Saturday, 31 August 2019

Operating System Introduction In Hindi

क ऑपरेटिंग सिस्टम (OS) एक कंप्यूटर के हार्डवेयर के साथ कंप्यूटर उपयोगकर्ता को जोड़ने वाले इंटरफ़ेस के रूप में कार्य करता है। एक ऑपरेटिंग सिस्टम सिस्टम सॉफ्टवेयर की श्रेणी में आता है जो फ़ाइल प्रबंधन, मेमोरी हैंडलिंग, प्रोसेस मैनेजमेंट, इनपुट / आउटपुट को हैंडल करने और परिधीय उपकरणों जैसे डिस्क ड्राइव, नेटवर्किंग हार्डवेयर, प्रिंटर, आदि जैसे सभी मूलभूत कार्यों को करता है।

कुछ अच्छी तरह से पसंद किए जाने वाले ऑपरेटिंग सिस्टम लिनक्स, विंडोज, ओएस एक्स, सोलारिस, ओएस / 400, क्रोम ओएस आदि हैं।

विषय - सूची

1. ऑपरेटिंग सिस्टम की विशेषताएं
2. ऑपरेटिंग सिस्टम के उद्देश्य

यहाँ एक ऑपरेटिंग सिस्टम के कुछ महत्वपूर्ण कार्यों की सूची दी गई है, जो कि सामान्य पाया जाता है, लगभग सभी ऑपरेटिंग सिस्टम हैं:



  • स्मृति प्रबंधन
  • प्रोसेसर प्रबंध
  • उपकरण प्रबंध
  • फ़ाइल रखरखाव
  • सुरक्षा संभालना
  • सिस्टम का प्रदर्शन नियंत्रित करना
  • नौकरी का हिसाब और संभालना
  • पता लगाने और संभालने में त्रुटि
  • अन्य सॉफ्टवेयर और उपयोगकर्ताओं के साथ सिंक्रनाइज़ेशन

ऑपरेटिंग सिस्टम में एक विशेष प्रोग्राम होता है जो एप्लिकेशन प्रोग्राम के निष्पादन को नियंत्रित करता है। ओएस अनुप्रयोगों और हार्डवेयर घटकों के बीच एक मध्यस्थ के रूप में कार्य करता है। ओएस को तीन उद्देश्यों के रूप में माना जा सकता है। य़े हैं:

सुविधा: यह एक कंप्यूटर का उपयोग करने के लिए अधिक उपयुक्त बनाता है।
दक्षता: यह कंप्यूटर प्रणाली संसाधनों को दक्षता और प्रारूप का उपयोग करने में आसान प्रदान करता है।
विकसित करने की क्षमता: इसे इस तरह से बनाया जाना चाहिए कि यह सेवा के साथ हस्तक्षेप किए बिना नए सिस्टम कार्यों के कुशल विकास, परीक्षण और स्थापना की अनुमति देता है।

No comments:

Post a comment